Debit Card Aur Credit Card Kya Hai - इनके फायदे और नुकसान की पूरी जानकारी

अगर आप बैंक खाता धारक हैं तो आपने क्रेडिट कार्ड के बारे में जरूर सुना होगा। क्रेडिट कार्ड एक प्लास्टिक नुमा कार्ड होता है जिससे बैंकिंग कार्यों को पूरा किया जाता है। यह देखने में बिल्कुल डेबिट कार्ड के जैसा होता है। पिछले कुछ वर्षों में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल काफी बडा है। आइये जानते हैं क्रेडिट कार्ड के बारे में पूरी जानकारी ।

Debit Card Aur Credit Card Kya Hai - इनके फायदे और नुकसान की पूरी जानकारी

Credit Card Kya Hai - क्रेडिट कार्ड क्या है ?

बैंको द्वारा अपने ग्राहकों का एक कार्ड जारी किया जाता है जो कि देखने में बिल्कुल डेबिट कार्ड की तरह होता है। क्रेडिट कार्ड धारक को बैंक द्वारा क्रेडिट दिया जाता है। बैंक में पैसे न होने की स्थिति में भी क्रेडिट धारक नगद भुगतान, बिल पेमेन्ट, मनी ट्रान्सफर जैसी सेवाओं का लाभ ले सकता है। बदले में बैंक उससे कुछ ब्याज चार्ज करती है।

क्रेडिट कार्ड एक तरह से डेबिट कार्ड ही की तरह होता है लेकिन डेबिट कार्ड में आप उतने पैसों का ही इस्तेमाल कर सकते हो जितने आपके बैंक खाते में जमा हैं। लेकिन के्रडिट कार्ड के जरिये आप बैंक में जमा पैसों से ज्यादा का भी इस्तेमाल कर सकते हो। यह एक तरह से आपको बैंक के द्वारा दिया जाना वाला उधार है।

क्रेडिट कार्ड बैंकों द्वारा दी जाने वाली एक ऐसी उधार की सुविधा है, जिसमें आप खुद के पास से नकद पैसे खर्च करने की बजाय बैंक की तरफ से आपको दिए गए क्रेडिट कार्ड से भुगतान कर सकते हैं. क्रेडिट कार्ड के जरिये आप तरह-तरह की खरीदारी और अन्य जरूरी भुगतान कर सकते हैं।

Credit Card काम कैसे करता है ?

जब आप क्रेडिट कार्ड के जरिये किसी मर्चेन्ट को भुगतान करते हो तो बैंक द्वारा उस मर्चेन्ट को भुगतान कर दिया जाता है और बैंक का आप पर उधार हो जाता है। जिसे आप बाद में अपने बैंक में जमा कर सकते हो। बैंक इसके बदलें मंे आपसे मामूली सा ब्याज होता है। यह ब्याज राषि और चुकाऐ गये समय पर निर्भर करता है।
बैंक द्वारा क्रेडिट कार्ड पर एक लिमिट तय की जाती है। के्रडिट कार्ड होल्डर उस लिमिट के हिसाब से ही भुगतान कर सकता है। यह लिमिट मासिक या वार्षिक हो सकती है। बैंक लिमिट का निर्धारण खाताधारक के लेन-देन, सैलरी के हिसाब से करते हैं।

Credit Card कितने प्रकार के होते हैं ?

बैक कुछ कम्पनियों के साथ मिलकर क्रेडिट कार्ड जारी करती हैं वे कम्पनियाॅ निम्न प्रकार हैं इन कम्पनियों के क्रेडिट कार्ड के चार्ज, सुविधाऐं अलग अलग होती हैं।
इन क्रेडिट कार्ड पर पैसों निकालनी की सुविधा, षाॅपिंग की सुविधा, डिस्काउण्ट आदि अलग अलग कैटगरी के हिसाब से होती है।

Credit Card के फायदे

1. क्रेडिट कार्ड का सबसे बडा फायदा यह है कि आपके बैंक में पैसे न होने की स्थिति मंे भी आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर भुगतान आदि सेवाओं का लाभ ले सकते हो।
2. के्रडिट कार्ड बहुत हल्का और पतला होता है आप इसे अपने साथ कहीं भी ले जा सकते हो।
3. क्रेडिट कार्ड के जरिये आप नकद भुगतान भी कर सकते हो।
4. क्रेडिट कार्ड पर आपको बहुत ज्यादा ब्याज नही देना होता है।
5. क्रेडिट कार्ड शाॅपिंग करने का एक अच्छा विकल्प है, कई कम्पनियाॅ क्रेडिट कार्ड पर षाॅपिंग करनें पर आपको अच्छा खासा डिस्काउण्ट देती हैं।
6. क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल से आप कोई भी मंहगी चीज जैसे आईफोन या अन्य को किश्तों में खरीद सकते हो।
7. क्रेडिट कार्ड के जरिये आप इमरजेंसी में लोन भी ले सकते हो।
8. अगर आप के्रडिट कार्ड का सही इस्तेमाल करते हो, सभी भुगतान सही समय पर करते हो तो आपका सिविल स्कोर अच्छा होता है जिससे भविष्य में आपको लोन मिलने की सम्भावना अधिक रहती है।

क्रेडिट कार्ड के नुकसान

1. क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करनें पर आपको चार्ज देना होता है। कुछ बैंक इसके लिये बहुत ज्यादा चार्ज लेती हैं।
2. क्रेडिट कार्ड के सेवाओं के लिये बैंक आपसे चार्ज लेती हैं। कई बैंक बहुत ज्यादा चार्ज लेती हैं।
3. क्रेडिट कार्ड से आप महीनें कुछ निश्चित लेन-देन ही बैंक से फ्री कर सकते हो, इसके बाद आपको हर ट्रान्जेक्शन पर चार्ज देना होता है।
4. क्रेडिट कार्ड के साथ आपको एक गुप्त कोड दिया जाता है अगर वो कोड किसी को पता चल जाऐ तो आपको क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल से आपके सारे पैसे निकाल सकता है।
5. कई बार आपका क्रेडिट कार्ड इण्टरनेट कनेक्टिीविटी की वजह से काम नही करता है जिसकी वजह से आपको मुश्किलों का सामना करना पड सकता है।
6. सर्वे में पाया गया है कि क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करनें वाले लोग ज्यादा खर्चीले होते हैं जिसकी वजह से उनकी सेविंग्स पर फर्क पडता है।
7. आप के साथ बैंक खाते से किये गये फ्राॅड में अपराधी का पता लगाना सम्भव होता है। लेकिन क्रेडिट कार्ड से किये गये फ्राॅड में अपराधी का पता लगाना काफी मुश्किल होता है।
8. कई बार के्रडिट कार्ड के ज्यादा इस्तेमाल करनें के कारण हम पर बैंक का काफी कर्ज हो जाता है। जिसकी हमें भारी कीमत अदा करनी होती है।

क्रेडिट कार्ड (Credit Card) कैसे बनवायें ?

क्रेडिट कार्ड बनबानें के लिये आपको अपने बैंक में जाकर अप्पलाई करना होगा। आप आनलाइन के्रडिट कार्ड भी अप्पलाई कर सकते हो। बैंक आप खाते में लेन-देन व आपके सिविल स्कोर के आधार पर आपको क्रेडिट कार्ड व क्रेडिट कार्ड की लिमिट जारी करेगी। क्रेडिट कार्ड के लिये आपके खाते में सही लेन-देन होना चाहिये। कई प्राइवेट कम्पनियाॅ भी बैंक के अलावा आपको क्रेडिट कार्ड जारी करती हैं। लेकिन उनके शुल्क थोडे ज्यादा होता हैं।

अब हम जान लेते हैं कि Debit Card Kya Hai ? और इसके फायदे और नुकसान क्या है ? आज के दौर में बैंकिंग सिस्टम से जुडना हर किसी व्यक्ति के लिये जरूरी हो गया है। आज लगभग हर व्यक्ति के पास अपना खुद का बैंक खाता है। जिन लोगों के पास खाते नही थे प्रधानमंत्री जनधन योजना के बाद आज प्रत्येक व्यक्ति के पास अपना खुद का बैंक खाता है। बैंक द्वारा बैंकिंग सेवाओं का आसान बनाने के लिये कई प्रकार की सुविधाऐं जारी की हैं जिनमें से डेबिट कार्ड भी एक है। डेबिट कार्ड के इस्तेमाल से आप बिना बैंक जाऐ कई बैंकिंग सेवाओं का लाभ ले सकते हैं। आइये जानते हैं डेबिट कार्ड के बारें में पूरी जानकारी ।

Debit Card Kya Hai - डेबिट कार्ड क्या है ?

बैंकों में जब आप पैसों की निकासी करने जाते हो तो आपको लम्बी-लम्बी लाइनों का सामना करना पडता है। वहीं जब आप किसी दूसरे शहर जाते हो तो वहाॅ आपको पैसों की जरूरत होती है तो आपको काफी दिक्कतों का सामना करना पडता है। इस समस्या को दूर करनें के लिये बैंको द्वारा डेबिट कार्ड की सुविधा जारी की गई है।

बैंक में खाता खुलवाते समय बैंको द्वारा आपको एक कार्ड दिया जाता है जिस पर एक तरफ 16 अंको का एक कोड और कार्ड की एक्सपाइयरी डेट होती है वहीं दूसरी और एक काली पटटी और तीन अंको का एक CVV कोड होता है। डेबिट कार्ड में चिप भी लगा होता है। इसके अलावा बैंक द्वारा आपको एक गुप्त कोड (Secret Pin) भी दिया जाता है। डेबिट कार्ड का इस्तेमाल डिजीटल भुगतान के लिये किया जाता है। जिसके जरिये आप शाॅपिंग, मनी ट्रान्सफर इण्टरनेट बैंकिंग आदि के लिये किया जाता है। लेकिन मौजूदा दौरा में में एटीएम कम डेबिट कार्ड जारी किये जाते हैं। जिनके जरिये आप किसी भी एटीएम से नगद पैसे निकाल सकते हो।

Debit Card काम कैसे करता है ?

डेबिट कार्ड को जब आप किसी भी एटीएम मशीन में डालते हो तो आपसे बैंक द्वारा दिया गया चार अंको का गुप्त कोड माॅगा जाता है। उसके बाद आपके सामनें आपको बैंक अकाउण्ट खुल कर सामने आ जाता है। जिससे आप Balance Inquiry, Cash withdrawal, मनी ट्रान्सफर, मिनी स्टेटमेंन्ट आदि सेवाओं केा लाभ ले सकते हैं। एटीएम से पैसे निकालनें पर आपके खाते से पैसे डेबिट हो जाते हैं और आपको एटीएम मशीन के जरिये पैसे मिल जाते हैं। वहीं डेबिट कार्ड से शाॅपिंग करनें पर आपके अकाउण्ट से पैसे डेबिट होकर मर्चेंन्ट के अकाउण्ट में क्रेडिट हो जाते हैं।

Debit Card कितने प्रकार के होते हैं ?

प्रत्येक बैंक आपको किसी न किसी सर्विस प्रोवाइडर का डेबिट कार्ड प्रदान करती है। डेबिट प्रोवाइड करवाने वाली मुख्य कम्पनियाॅ इस प्रकार हैं।

  • Master Card Debit Card
  • Rupay Debit Card
  • Maestro Debit Card
  • Visa Debit Card

ये सभी डेबिट कार्ड प्रोवाइटर ग्राहकों की जरूरतों के हिसाब से अलग अलग डेबिट कार्ड प्रोवाइट करवाते हैं, जिनमें सिल्वर, गोल्ड, प्लेटिनम, डायमण्ड, चिप आदि प्रकार के डेबिट कार्ड जारी करती हैं।

डेबिट कार्ड (Debit Card) के फायदे

1. डेबिट कार्ड के इस्तेमाल से आप बिना बैंकों की लाइन में लगे अपने बैंकिंग कार्य जैसे कैश विडद्राल, मनी ट्रान्सफर, बैंलेन्स इन्क्वायरी आदि सेवाओं को लाभ ले सकते हैं।
2. आपको शहर से बाहर जाते समय नकद ले जाने की जरूरत नही हैं आप सिर्फ डेबिट कार्ड को लेकर जा सकते हो।
3. डेबिट कार्ड के जरिये से आप नगद भुगतान, व खुले रूपयों की समस्या से बच जाते हो, वहीं आपके द्वारा किये गये किसी भी लेन-देन का रिकाॅर्ड भी आपके पास रहता है।
4. मोबाइल रीचार्ज, डीटीएच रीचार्ज, बिल भुगतान आदि के लिये आपको किसी मर्चेन्ट के पास जाने की आवश्यकता नही हैं आप अपने डेबिट-कार्ड के इस्तेमाल से ही इन सेवाओं का लाभ ले सकते हैं।
5. डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करने पर कई बैंके होल्डर को इंश्योरेन्स कवर भी उपलब्ध करवाती हैं।

डेबिट कार्ड के नुकसान

1. डेबिट कार्ड के सेवाओं के लिये बैंक आपसे चार्ज लेती हैं। कई बैंक बहुत ज्यादा चार्ज लेती हैं।
2. डेबिट कार्ड से आप महीनें कुछ निश्चित लेन-देन ही बैंक से फ्री कर सकते हो, इसके बाद आपको हर ट्रान्जेक्शन पर चार्ज देना होता है।
3. डेबिट कार्ड के साथ आपको एक गुप्त कोड दिया जाता है अगर वो कोड किसी को पता चल जाऐ तो आपको डेबिट कार्ड के इस्तेमाल से आपके सारे पैसे निकाल सकता है।
4. कई बार आपका डेबिट कार्ड इण्टरनेट कनेक्टिीविटी की वजह से काम नही करता है जिसकी वजह से आपको मुश्किलों का सामना करना पड सकता है।
5. डेबिट कार्ड होने से आप अपने सारे पैसे बैंक से निकाल सकते हो। सर्वे में पाया गया है कि डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करनें वाले लोग ज्यादा खर्चीले होते हैं जिसकी वजह से उनकी सेविंग्स पर फर्क पडता है।


6. आप के साथ बैंक खाते से किये गये फ्राॅड में अपराधी का पता लगाना सम्भव होता है। लेकिन डेबिट कार्ड से किये गये फ्राॅड में अपराधी का पता लगाना काफी मुश्किल होता है।

Debit Card कैसे बनवायें ?

ज्यादातर बैके खाता धारका को खाता खुलवाते समय ही डेबिट कार्ड जारी करती हैं। इसके लिये खाता धारक को एकाउण्ट ओपनिंग फाॅर्म में जानकारी देनी होती है। प्रधानमंत्री जनधन योजना के अन्तगर्त खुलने वाले सभी खातों पर फ्री रूपे डेबिट कार्ड की सुविधा होती है। अगर आपके पास डेबिट कार्ड नही हैं तो आप बैंक को बाद में डेबिटकार्ड जारी करने का फाॅर्म भर कर दे सकते हो। 15 से 20 दिनों के भीतर आपको डेबिट कार्ड मिल जाऐगा।

Debit Card इस्तेमाल करते रखेें सावधानी

1. अगर आप डेबिट कार्ड का इस्तेमाल नही करते हो तो बेकार में डेबिट कार्ड जारी न कराऐं। इससे आपके पैसे की भी बचत होगी और आपक खाता भी सुरक्षित रहेगा।
2. डेबिट कार्ड के प्रति लापरवाही न दिखाऐं, उसे हमेशा संभाल कर रखें।
3. डेबिट कार्ड के साथ मिलने वाला गुप्त पासवर्ड किसी को न बताऐं।
4. अगर आप से कोई भी व्यक्ति फोन पर आप से आपके डेबिट कार्ड की डिटेल जैसे 14 अंको का कोड, एक्सपाइरी दिनांक या सीवीवी कोड पूंछे तो कभी न बताऐं।
5. फोन पर कभी किसी को ओटीपी न दें।
6. डेबिट कार्ड के जरिये किसी भी भुगतान करनें से पहले मर्र्चेन्ट की विश्वनीयता को परख लें।
7. अगर आप डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करके आॅनलाइन ट्रान्जेक्शन कर रहे हो तो बेबसाइट की जाॅच कर लें। कई फर्जी बेबसाइट आपसे पैसे की ठगी कर सकती हैं, साथ ही आपके डेबिट कार्ड की जानकारी भी चुरा सकती हैं।
8. आनलाइन शाॅपिंग करते समय विशेष ध्यान दें, किसी विश्वसनीय बेबसाइट से ही आनलाइन शाॅपिंग करें। कई बेबसाइट आपसे पैसा भी ले लेती हैं और प्रोडक्ट भी नही भेजती। साथ ही आपके डेबिट कार्ड की डिटेल भी चुरा लेती हैं।
9. एटीएम मशीन से पैसे निकालते समय अपने पासवर्ड को छिपा कर रखें, ध्यान दें कि कहीं कोई व्यक्ति आपका पासवर्ड देख तो नही रहा है।
10. एटीएम मशीन से पैसे निकालते समय पूरा ट्रान्जेक्शन करके ही एटीएम मशीन को छोडें, बीच में मशीन छोड कर न जाऐं।
11. एटीएम से पैसे निकालते समय ये ध्यान रखें कि वो एटीएम किसी कम्पनी द्वारा लगाया हैं। दिल्ली, मुम्बई जैसे बडे शहरों में फर्जी कम्पनियों द्वारा एटीएम लगाकर ठगी करनें के कई मामले आ चुके हैं।
12. डेबिट कार्ड खो जाने, या डेबिट कार्ड की जानकारी लीक हो जाने की दिशा में अपने बैंक को इसकी जानकारी देकर तुरन्त अपना डेबिट कार्ड ब्लाॅक करवाऐं अन्यथा आपके साथ नुकसान हो सकता है।

डेबिट कार्ड से जुडी सभी जानकारियाॅ इस आर्टिकल में लिख दी गई हैं लेकिन अगर कोई ऐसी जानकारी है जो इस आर्टिकल में नही लिखी गई है तो आप हमें कमेन्ट बाॅक्स में बता सकते हैं। वही डेबिट कार्ड से जुडे कोई भी सवाल आप कमेन्ट बाॅक्स में पूंछ सकते हो।


Article Source From Hindi Sahayata

0/Post a Comment/Comments